हैदराबाद से घर लाने पर लटेरी के मजदूरों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, जिला कलेक्टर, एसकेएस प्रभारी सहित प्रशासन को दिया धन्यबाद

हैदराबाद से घर लोटें मजदूरों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कलेक्टर, एसकेएस प्रभारी सत्यनारायण चौकसे सहित स्थानीय प्रशासन को घर लाने में मदद करने आशीर्वाद के साथ दिया धन्यबाद

https://twitter.com/SatyaChouksey/status/1259432060390797312?s=19
लिंक पर क्लीक कर सुने हैदराबाद से लोटें मजदूर व्यथा

पिछले 26 अप्रेल को एक विडिओ संदेश के माध्यम से सिरोंज/लटेरी विधानसभा के एसकेएस प्रभारी और कोरोना वालेंटियर सत्यनारायण चौकसे को लटेरी क्षेत्र के मजदूरों के तेलंगाना राज्य के रंग्गारेड्डी जिले में स्थित सुर्यलक्ष्मी कोटन मिल में फसे होने की जानकारी मिली थी, जब हमने फोन के माध्यम से मजदूरों से बात की तो मजदूरों ने बताया मिल में उन लोगों को बंधक बनाकर रखा हुआ है। और उन्हें घर वापिस भेजने की कंपनी कोई व्यवस्था नहीं कर रही है। तब पत्राचार के माध्यम सत्यनारायण चौकसे ने हेदराबाद में फसे मजदूरों की वास्तु स्तिथि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को बताई और मजदूरों की घर बापसी कराने का निवेदन किया। साथ ही पत्राचार की प्रतिलिपि मेल और व्हाट्सएप के माध्यम से स्थानीय विधायक श्री उमाकांत शर्मा, तेलंगाना राज्य के प्रभारी अधिकारी आईएएस श्री वी. किरण गोपाल, विदिशा कलेक्टर डॉक्टर पंकज जैन, स्थानीय एसडीएम श्री ब्रजेंद्र सिंह यादव को भेज कर फोन पर बात कर संपर्क किया।

DekhoLateri.com
हैदराबाद में फसे वृद्ध मजदूर श्रियालाल घर वापसी पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और जिला प्रशासन विदिशा को धन्यबाद एंव आशीर्वाद देते हुए।
ShivrajSinghChaouhan
DekhoLateri #SatyaLateri
https://www.facebook.com/356567244500362/posts/1581543685336039/
इस लिंक पर क्लीक कर मजदूर की कहानी उसी जुवानी


इसके बाद शिवराज सरकार ने हैदराबाद में फसे मजदूरों को घर वापस लाने प्रशासनिक स्तर पर तेजी से काम करते हुए, तेलंगाना राज्य के स्थानीय प्रशासन से संपर्क किया ओर
लॉक डाउन अवधि के दौरान प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को वापिस अपने गृह जिले में लाने के लिए विशेष प्रबंध राज्य सरकार द्वारा सुनिश्चित किए गए है इसके परिपालन में तेलंगाना राज्य के वीवी नगर से रवाना हुई श्रमिक एक्सप्रेस से शनिवार को 1160 मजदूर विदिशा पहुंचे है। जिसमें 160 मजदूर विदिशा जिले के शामिल है। जिला प्रशासन के द्वारा सभी मजदूरो को बसों के माध्यम से उनके गृह नगरों तक पहुंचाने के प्राप्त निर्देशो के अनुपालन किया है।
श्रमिक एक्सप्रेस के आने से पहले विदिशा रेल्वे स्टेशन पर तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे जिसमें श्रमिको के स्वास्थ्य परीक्षण (स्क्रीनिंग), मास्क देने तथा सेनेटाइजर से हाथों की स्वच्छता के अलावा मजदूरो को अपने गृह नगर ग्राम तक पहुंचने के लिए बसों की व्यवस्था के साथ-साथ मजदूरो को भोजन पैकेट, बच्चों को बिस्किट और प्रत्येक बस में पेयजल आपूर्ति के प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे।
तेलगांना राज्य के वीवी नगर से श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन में मध्यप्रदेश के 30 जिलो के 1160 श्रमिक शुक्रवार को रवाना हुए थे। प्रवासी मजदूर सायं पौने पांच बजे विदिशा पहुंचे। विदिशा रेल्वे स्टेशन पर श्रमिकों के लिए किए गए प्रबंधो से उन्हें किसी भी प्रकार की तकलीफों का सामना नही करना पड़ा है। इस प्रकार के उदगार श्रमिकों के थे, सुव्यवस्थित रूप से किए गए प्रबंधो के फलस्वरूप श्रमिको को ट्रेन की बोगी से उतरने से लेकर स्केनिंग और बस में बैठने तक हर जगह अधिकारियों, कर्मचारियों के साथ-साथ वांलिटियर्सो के द्वारा के सौंपे गए दायित्वों के निर्वहन करते हुए नजर आए।
श्रमिकों का रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म के बाहरी प्रवेश द्वार पर कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, विदिशा नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन एवं अन्य जनप्रतिनियों द्वारा स्वागत कर उन्हें मास्क प्रदाय किए है।
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने स्वंय मजदूरो के लिए क्रियान्वित व्यवस्था पर नजर रखी वही बीच-बीच में श्रमिकों से संवाद किया। वही मौजूद चिकित्सा पैरामेडिकल स्टाप के कार्यो पर भी नजर रखे हुए थे। सारी व्यवस्थायें सम्पन्न हो जाने के बाद श्रमिकों को अपने अपने घर भेजा गया जिसमें 24 लोग लटेरी तहसील के भी थे। जब वह लोग लटेरी पहुंचे तो उनकी आगवानी सामुदायिक भवन में एसडीएम विजेंद्र याद, नायव तहसीलदार ऋतु राय, एसकेएस प्रभारी सत्यनारायण चौकसे, सहित नगर परिषद द्वारा की गई।
लोकडाऊन के कारण हैदराबाद की सुर्यलक्ष्मी मिल मे फसें मजदूरों भाई बहन जब अपने गृह नगर पहुंचे तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। उन्हीं में से एक वृद्ध मजदूर श्रिया लाल ने विडिओ संदेश के द्वारा उन्हें घर बापस लाने के लिए मुख्यमंत्री मामा शिवराज सिंह चौहान, स्थानीय विधानसभा उमाकांत शर्मा, जिला कलेक्टर पंकज जैन, एसडीएम विजेंद्र सिंह यादव, एसकेएस प्रभारी सत्यनारायण चौकसे एंव समस्त प्रशासन को करुण शब्दों में धन्यबाद देते हुए शिवराज सरकार और सभी सहयोगियों को आशीर्वाद दिया।

एसडीएम विजेंद्र सिंह यादव और नायव तहसीलदार भी मजदूरों की दुआओं से भावविभोर हो गए।
वहीं सत्यनारायण चौकसे ने इसे कोरोना काल में अपनी सबसे बड़ी उपलब्धि बताया ओर कहा कि जैसे ही उन्हें इन लोगों के हैदराबाद में फसे होने की जानकारी हुई उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज मामाजी तक यह जानकारी पहुँचायी ओर अपने स्तर पर भी प्रयास शिरु किये व लगातार हेदराबाद में फसें लोगों से संपर्क बनाए रखा। जिसके परिणाम स्वरूप शिवराज सरकार और जिला प्रशासन के सहयोग से हेदराबाद की सुर्यलक्ष्मी मिल में फसें लगभग 185 लोगों मेंसे 150 लोग अपने घर वापस पहुंच चुके हैं और 35 लोगों को घर लाने के प्रयास निरंतर जारी है।
साथ ही उन्होंने भी मुख्यमंत्री मामा शिवराज सिहं चौहान, स्थानीय विधायक उमाकांत शर्मा, तैलंगना राज्य के प्रभारी आईएएस श्री वी किरण गोपाल, जिला कलेक्टर डॉक्टर पंकज जैन, जिला नोडल अधिकारी श्री मिश्रा, एसडीएम विजेंद्र सिंह यादव, नायव तहसीलदार ऋतु राय, नपा सीएमओ पीएस खरे सहित सभी सहयोगियों का आभार अपने देखो लटेरी सौशल ग्रुप के माध्यम से जताया।

Satyanarayan Chouksey

Jay ho lateri